Home.   >   Technology:   >   Hardware In Hindi

हार्डवेयर क्या है ? Hardware Kya Hai

hardware in hindi , hardware kya hai , hardware kise kahate hain , hardware meaning in hindi , hardware kya hota hai , what is hardware in hindi ,  hardware ki paribhasha  , external hardware parts is hindi , internal hardware parts in hindi

जब  हम  कंप्यूटर  की  बात  करते  हैं , तो कंप्यूटर  के साथ - साथ  उसके  सबसे  महत्वपूर्ण  अंग , हार्डवेयर  और  सॉफ्टवेयर  की  बात  करना  भी  आवश्यक  हो  जाता  है। आप  लोगों  ने  हार्डवेयर  का नाम  तो  सुना ही  होगा  और  कुछ  लोग  तो  इसके  विषय  में  जानते  भी  होंगे ।

आज  इस  पोस्ट में  हम  आपको  बताएँगे  की  हार्डवेयर  क्या  है ( hardware kya hai ) , hardware kise kahate hain , hardware meaning in hindi  और   hardware kya hota hai  इत्यादि  के  विषय में । आप इन  सभी  विषयों  की  जानकारी  पाने  के  लिए  हमारे  इस  पोस्ट  को पूरा  अवश्य  पढ़ें ।

हार्डवेयर क्या है ?

दोस्तों , कंप्यूटर  को  काम  करने  लिए  जितना  आवश्यक  सॉफ्टवेयर  होता  है , हार्डवेयर  भी  कंप्यूटर  के लिए  उतना  ही  आवश्यक  होता  है । हार्डवेयर  और  सॉफ्टवेयर  दोनों  के  एक साथ  काम  करने  पर  ही  एक  कंप्यूटर  यूजर  को  उसकी  आवश्यकता  के  अनुसार  परिणाम  पाता  है। 

सॉफ्टवेयर  के  विषय  में  हमने  इसी  ब्लॉग  के  एक  अलग  पोस्ट  में  जानकारी  दी  है ,  जो  की   सॉफ्टवेयर  क्या  है   के  नाम  से  है । आईये  अब  हम   हार्डवेयर  के  विषय में  जानते हैं  ।    

कंप्यूटर  में  से  अगर  हम  हार्डवेयर  को  अलग  कर  दें  तो  , कंप्यूटर   कुछ  भी  नहीं  रहेगा ।  क्योकि  एक कंप्यूटर  के  जिन अंगो  ( जैसे - कीबोर्ड , माउस  , मानिटर , स्पीकर  आदि )   को  देख कर  कंप्यूटर  की  पहचान  होती  है  ,  उनमे  से  ज्यदातर   हिस्से  कंप्यूटर  के  हार्डवेयर  ही  होते  हैं ।

हार्डवेयर  की  परिभाषा

कंप्यूटर  का  वह  भाग  जिसे  हम  प्रत्यक्ष  रूप  से  देख  और  स्पर्श  (touch)  कर  सकते  हैं  ,  और  जो  कंप्यूटर  में  डाटा  इनपुट  करने  और  कंप्यूटर  से  आउटपुट  डाटा  को  प्राप्त  करने  के  लिए  उपयोग  किये  जाते  हैं ,  उन्हें  कंप्यूटर  का  हार्डवेयर  कहते  हैं ।     

हार्डवेयर  के  प्रकार (Types Of Hardware In Hindi)

हार्डवेयर , कंप्यूटर  के  बेहद  महत्वपूर्ण  भाग  होते  हैं , इनके  कार्य  के  आधार  पर  मुख्यतः  हार्डवेयर  तीन  प्रकार  के  होते  हैं -

(1) इनपुट डिवाइस (Input Device) 

कंप्यूटर   के  वे  भाग  जिसके  द्वारा  कंप्यूटर  को  यूजर  से  इनपुट  डाटा  प्राप्त  होता  है  ,  उन्हें  इनपुट  डिवाइस  कहते  हैं । इनपुट  डिवाइस  कंप्यूटर  हार्डवेयर  के  ही  भाग  होते  हैं , जैसे - माउस , कीबोर्ड , माइक्रोफोन , स्कैनर  इत्यादि।

(2) आउटपुट डिवाइस (Output Device)

कंप्यूटर  के  वे  भाग  जिसके  द्वारा  यूजर  को  कंप्यूटर  से  सूचनाएँ  प्राप्त  होती  हैं  उन्हें  आउटपुट  डिवाइस  कहते  हैं , ये  सूचनाएं  यूजर  को  ऑडियो ,  विडियो  और  टेक्स्ट  के  रूप में  प्राप्त  होती  हैं , जैसे - मानिटर  ,  प्रिंटर  , स्पीकर  इत्यादी  आउटपुट  डिवाइस  के  उदाहरण  हैं । सभी  आउटपुट  डिवाइस  भी  कंप्यूटर  हार्डवेयर  के  ही  भाग  होते  हैं ।  

(3) स्टोरेज  डिवाइस (Storage Device)

कंप्यूटर   का  वह  भाग  जिसमे  यूजर  के  डाटा  को  स्टोर  किया  जाता  है  उन्हें  स्टोरेज  डिवाइस  कहते  हैं । स्टोरेज  डिवाइस  में  डाटा  इलेक्ट्रोनिक  रूप  में  स्टोर  रहते  हैं । ये  सभी  स्टोरेज  डिवाइस  कंप्यूटर  हार्डवेयर  के  ही  भाग  होते  हैं । कुछ  स्टोरेज  डिवाइस  इस  प्रकार  हैं  -  हार्डड्राइव  , फ्लैशड्राइव  , पेनड्राइव  , इत्यादी ।

कंप्यूटर  हार्डवेयर  पार्ट्स (All Hardware Parts In Hindi) 

कंप्यूटर   को  कार्य  करने  के  लिए  बहोत  से  हार्डवेयर  पार्ट्स  की  आवश्यकता  होती  है ,  कंप्यूटर  हार्डवेयर  की  परिभाषा  में  हमने  पढ़ा  है  की  कंप्यूटर  के  वे  पार्ट्स  जिनको  हम  देख  या  छु  सकते  है  उन्हें  हार्डवेयर  कहते  हैं ।

परन्तु   कंप्यूटर  को  सामान्य  तौर  पर   देखने  से   हमे  सिर्फ  वे  पार्ट्स  ही  दिखाई  देते  है  जो  की  कंप्यूटर   में   बाहर  से  जुड़े  होते  हैं  ,  लेकिन  कंप्यूटर  हार्डवेयर  के  कुछ  पार्ट्स  ऐसे  भी  है  जो  कंप्यूटर  के  अन्दर  होते  हैं  जिन्हें  हम  सामान्यतः  नहीं  देख  सकते  है ।  इन  सभी  पार्ट्स  को  अच्छे  से  समझने  के  लिए  हम  कंप्यूटर हार्डवेयर  के  पार्ट्स  को  दो  भागो  में  बाँटते  हैं - 

(1) आन्तरिक हार्डवेयर पार्ट्स (Internal hardware parts)

कंप्यूटर  में  लगने  वाले  कुछ  हार्डवेयर  पार्ट्स  ऐसे  होते  है  जो  की  आकार  में  बेहद  छोटे  होते  हैं  और  ये  ज्यदा  मजबूत  भी  नहीं  होते  हैं । यदि  हम  इन पार्ट्स  को  कंप्यूटर  में  बाहर  से  जोड़ते  हैं  तो  ये   जल्दी  ख़राब  हो  सकते   हैं ,  इस  लिए  इन  पार्ट्स   को  कंप्यूटर  के  अंदर  लगाया  जाता  है ।  कंप्यूटर  के  अंदर  लगने  वाले   इन्हीं  पार्ट्स  को  कंप्यूटर  के  आन्तरिक हार्डवेयर  पार्ट्स (Internal hardware parts)  कहते  हैं । कंप्यूटर  कुछ  internal  hardware parts  के  नाम  इस  प्रकार  हैं -

  • Motherboard 
  • CPU
  • ROM
  • RAM
  • Hard Disk

 

(2) बाह्य हार्डवेयर पार्ट्स (External Hardware Parts)

कंप्यूटर  में   लगने  वाले  कुछ  हार्डवेयर  पार्ट्स   ऐसे  होते  हैं  जो  की  आकार  में  बहोत  ही  बड़े  होते  हैं  जिन्हें  कंप्यूटर  के  अन्दर  लगाने  से  कंप्यूटर  का  आकार  भी  बड़ा  हो  जाता ।  ऐसे  हार्डवेयर  पार्ट्स  को  कंप्यूटर   में   बहर  की  तरफ   से  जोड़ा  जाता  है  ।  कंप्यूटर  में  बहरा  की  तरफ  लगे  हुए  हार्डवेयर  पार्ट्स  को  कंप्यूटर  का बाह्य  हार्डवेयर  पार्ट्स (External  Hardware Parts) कहते  हैं । कंप्यूटर  के  कुछ  External Hardware Parts  के  नाम  इस  प्रकार  है -

  • Monitor
  • Printer
  • Mouse
  • Projector
  • keyboard

 

हार्डवेयर  के  कार्य (Work Of Hardware In Hindi)

कंप्यूटर  में  हार्डवेयर  के  कार्य  बेहद  महत्वपूर्ण  होते  हैं ।  यदि  कंप्यूटर  के  साथ  हार्डवेयर  ना  जुड़े  हों  तो  कंप्यूटर  का  कोई  अस्तित्व  नहीं  रहता  है ,  और  ना  ही  उसका  कोई  उपयोग  हो सकता है ।

हार्डवेयर  के  माध्यम   से  ही  कंप्यूटर  को  यूजर  का  डाटा  प्राप्त  होता  है ।  कंप्यूटर ,  सॉफ्टवेयर  के  निर्देशों  का  उपयोग  करके  प्राप्त  डाटा  को  प्रोसेस  करता  है । प्रोसेस  के  बाद  प्राप्त  आउटपुट  डाटा  को  आउटपुट  डिवाइस  के  माध्यम  से  यूजर  को  सुचना  प्रदान  करता  है।

इस   पुरे  प्रोसेस  के  दौरान  जो  भी  इनपुट  या  आउटपुट  डिवाइस  कंप्यूटर  द्वारा  उपयोग  किये जाते  है  , वे  सभी  कंप्यूटर  हार्डवेयर  के  ही  भाग  होते  हैं। 

You can share this post!

Leave Comments



(1) Comment

Digital Sachin16-05-2024

This is really amazing information.